Trending Now

शनिवार दोपहर को 21 वर्षीय भारोत्तोलक संकेत महादेव ने भारत को पहला पदक दिलवाया ।

शनिवार दोपहर को 21 वर्षीय भारोत्तोलक संकेत महादेव ने बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों में भारत को पहला पदक दिलवाया. 55 किग्रा वर्ग में कुल 248 किलोग्राम भारोत्तोलन के साथ संकेत ने सिल्वर मेडल अपने नाम किया. मलेशिया के मोहम्मद अनीक बिन ने 249 (107 और 142) की कुल लिफ्ट के साथ स्वर्ण पदक जीता.

CWG 2022 में मेडल जीतने वाले संकेत कौन?

संकेत का सिल्वर मेडल उनके चाय बेचने वाले पिता के लिए किसी गोल्ड से कम नहीं है. पिछले साल पटियाला के नेशनल वेटलिफ्टिंग कैंप में जाने से पहले खुद संकेत भी रोजाना परिवार की मदद के लिए चाय स्टाल पर चाय बेचने जाया करते थे. भारत का ये नया सिल्वर बॉय महाराष्ट्र के सांगली में स्थित अपने टी स्टाल पर अक्सर पिता के साथ चाय बेचता दिख जाता था. इसके साथ ही संकेत ट्रेनिंग भी करते और कॉलेज भी.

चाय बेचने वाले के बेटे ने कर दिया कमाल

संकेत पर गर्व महसूस कर रहे उनके पिता महादेव सरगर अपने बेटे के जीत का जश्न मनाने के लिए आधे दिन की छुट्टी ली है. लंबे समय बाद ऐसा पहली बार हुआ है जब संकेत के पिता चाय नहीं बेच रहे. इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए उन्होंने कहा कि, ‘मैं काम से एक घंटे की छुट्टी तो ले ही सकता हूं.’ संकेत के मेडल ने परिवार को खुशी मनाने का एक बहुत बड़ा कारण दिया है.

संकेत की बहन भी है वेटलिफ्टर

पिछले ही महीने संकेत की छोटी बहन काजल सरगर चौथे खेलो इंडिया यूथ गेम्स में पहली गोल्ड मेडलिस्ट बनी थीं. संकेत के पिता ने काजल का जीता हुआ मेडल अपने टी-स्टाल पर लगाया है और अब वह संकेत का मेडल भी यहीं लगाना चाहते हैं. महादेव कभी नहीं चाहते थे कि उनका बेटा उनके और उनके पिता की तरह सड़क पर कोई काम करे. वह अपने दोनों बच्चों के लिए उसके सुनहरे भविष्य का सपना देखते रहे.

पिता संग दुकान पर बेचते थे चाय | संकेत ने चाय की दुकान पर एक प्रकार का मूंग पकोड़ा, जिसे मंगोड़े कहा जाता है और वड़ा पाव बनाया करते थे. इसी दुकान पर पान भी बेचा जाता है. लेकिन उनके पिता चाहते थे कि वह जीवन में आगे बढ़ें. इंडियन एक्स्प्रेस से बात करते हुए उन्होंने कहा कि “मैं उसे बताता था कि मेरे पिता केले बेचते थे और मैं चाय और पकोड़ा बेचता हूं. इसलिए बड़े सपने देखो. आज के पदक के साथ, उसने अपने साथ साथ मेरी पहचान भी बदल दी है.”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button