Trending NowWorld News

g20 अध्यक्षता के क्या है मायने.

देश में अगले साल 9 से 10 सितंबर को g20 सम्मेलन का आयोजन होगा. पिछले गुरुवार से भारत को इसकी अध्यक्षता की जिम्मेदारी भी मिल गई है. सम्मेलन की तैयारी की शुरुआत भी हो गई है. भारत में इसके लिए 200 से भी ज्यादा आयोजनों की योजना बनाई है. यह आयोजन देश के 50 से ज्यादा शहरों में किए जाएंगे. सम्मेलन का आयोजन भारत के लिए खास भी होगा और चुनौतीपूर्ण भी. हालांकि अभी इस कार्यक्रम का एजेंडा तय होना बाकी है. भारत ने साफ संकेत दिया है कि ऊर्जा संकट और आतंकवाद को रोकना उसकी प्राथमिकता होगी.

दुनिया के देशों के सामने से निपटने का भारत रोडमैप पेश करेगा. जानिए कि 20 की अध्यक्षता से भारत को कितना फायदा होगा कितनी चुनौतियां सामने आएंगे. जी-20 के अध्यक्षता के जरिए भारत को दुनिया भर के देशों के सामने ब्रांड इंडिया की छवि को मजबूत बनाने का मौका मिलेगा. इसकी शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में इंडोनेशिया में हुए g20 सम्मिट से शुरू की कर दी थी. प्रधानमंत्री ने देश में बने उत्पाद दुनिया के तमाम बड़े नेताओं को तोहफे में दिए थे. देश के जिन शहरों में जी-20 के आयोजन का समारोह रखा गया है इससे भारत की टूरिज्म को फायदा मिलेगा. इस कार्यक्रम के जरिए मेक इन इंडिया प्रोजेक्ट को भी बढ़ावा मिल सकता है. इसकी अध्यक्षता से भारत की छवि मजबूत होगी और भारत आतंकवाद के मुद्दों पर चीन और पाकिस्तान जैसे देशों को घेर सकता है. भारत के पास मौका है की मेजबानी करके खुद को दुनिया के सामने जोरदार तरीके से पेश कर सकें.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button