Trending Now

जे.आर.एम.‌ व टी.टी.एस की चादरपोशी के साथ उर्स ए शाह निर्गुन मियां का हुआ इख़्तिताम

सिरौली। हज़रत शाह निर्गुन मियां की दरगाह पर चल रहे उर्स का जमाअत रजा-ए-मुस्तफा (जे.आर.एम.) एवं तहरीक तहफ्फुज-ए-सुन्नीयत (टी.टी.एस.) सिरौली ब्रांच की जानिब से चादरपोशी के साथ हज़रत सय्यद अकबर अली उर्फ शाह निर्गुन मियां का उर्स खत्म हुआ बता दें हज़रत शाह निर्गुन मियां की दरगाह की हद में सांप बिच्छू नहीं काटतें हैं एवं इसके अलावा हज़रत की और भी करामात चर्चा में रहती हैं उर्स 15 दिसंबर को शुरू हुआ जो अभी तक चल रहा है यह भी बता दें कि इस उर्स की वजह से ही सिरौली को दूर दूर तक शोहरत मिली है उर्स के आते ही कस्बे में मेले की रंग बिरंगी आवाजों से रौनक बढ़ गई थी उर्स खत्म होने के बाद कस्बे में खामोशी छा जाएगी कल देर रात उर्स खत्म होने का ऐलान हुआ जिसे सुनकर दुकानदारों व जायरीनों में हड़कंप मच गया जिसके बाद जायरीनों की भीड़ खरीददारी के लिए बड़ी तादात में बढ़ गई

आज करीब 3:30 बजे आला हजरत के संगठन जमात रज़ा ए मुस्तफा एवं तहरीक तहफ्फुज-ए-सुन्नीयत सिरौली ब्रांच की जानिब से दोनों संगठनों के पदाधिकारियों ने एक साथ चादर, गुलपोशी, के साथ सलातो सलाम का नज़ारा पेश करते हुए दुआएं मांगी इस मौके पर टी.टी.एस. सदर जरीफ फारूकी, जे.आर.एम. सदर मोहम्मद हसन रज़वी, मुकर्रम मिर्जा, तहज़ीब सलमानी, अदनान खान, यामीन चौधरी, मोहम्मद सलमान रज़ा, मोहम्मद इब्राहिम के अलावा दोनों संगठनों के पदाधिकारी बड़ी तादात में मौजूद रहे। मेला मालिक अकरम खान ने बताया कि उर्स की अनुमति 15 दिसंबर से 14 जनवरी तक थी अनुमति खत्म होते ही उर्स के इख़्तिताम का ऐलान किया गया और आज उर्स का इख़्तिताम आला हजरत के संगठन जे.आर.एम. व टी.टी.एस की चादरपोशी के साथ किया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button