Trending Now

पुलिस ने साधु पर हमला करने वाले 7 आरोपियों को एसडीएम के समक्ष किया पेश

रिपोर्ट सद्दाम खान

साधु ने कहा मैं इस कार्रवाई से संतुष्ट नहीं आत्महत्या जरूर करूंगा

आंवला। आज बिशारतगंज पुलिस ने साधु पर हमला करने वाले 7 आरोपियों को गिरफ्तार करके एसडीएम के समक्ष किया पेश  1. विजय कश्यप पुत्र रामचन्द्र 2. रामेन्द्र यादव पुत्र मोर सिंह 3. नत्थू कश्यप पुत्र छेदालाल 4. नीरज पुत्र नत्थू कश्यप 5. सुनील पुत्र नत्थू कश्यप 6. विष्णु पुत्र नत्थू कश्यप  नि0गण ग्राम बेहटा बुजुर्ग थाना विशारतगंज बरेली 7. प्रेम शंकर पुत्र लक्ष्मण प्रसाद नि0 ग्राम नौहाराहसनपुर थाना विशारतगंज बरेली को गिरफ्तार कर अंतर्गत धारा 151/107/116 सीआरपीसी में माननीय न्यायालय भेजे गए। इससे पहले 20 सितंबर को एसएसपी कार्यालय बरेली में धरना प्रदर्शन कर आत्महत्या करने की घोषणा कर चुके योगी विजय देवनाथ ने अब पुलिस को 4 दिन का समय और दे दिया था सोमवार की शाम एसडीएम ननहेराम और सीओ आंवला अजय कुमार गौतम की अपील पर नरम पड़े योगी ने घोषणा की कि यदि 23 सितंबर तक उन्हें इंसाफ नहीं मिला तो 24 सितंबर को वह एसएसपी कार्यालय में भारी संख्या में साधु सन्यासियों के साथ धरना प्रदर्शन करेंगे। योगी विजय देवनाथ अपने साथ हुई लूट और मारपीट की घटना में नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर इन दिनों मुखर हैं।इससे पूर्व रविवार की रात बेहटा बुजुर्ग गांव के शिव मंदिर पहुंचे सीओ आंवला अजय कुमार गौतम की योगी से तीखी नोक-झोंक भी हो गई। इस दौरान योगी ने पुलिस पर आरोपियों को संरक्षण देने का खुला आरोप भी लगाया। रविवार की रात से ही शिव मंदिर पर भारी संख्या में पुलिस कर्मी तैनात कर दिए गए थे।सोमवार की शाम सीओ आंवला के निर्देश पर बिशारतगंज पुलिस ने घटना से जुड़े पांच लोगों को हिरासत में भी ले लिया है। बतादें कि पड़ोस के बेहटा बुजुर्ग गांव के ग्रामीणों की मांग पर बीती 30 सितंबर को शिव मंदिर के महंत योगी विजय देवनाथ राशन की दुकान पर घटतोली का विरोध करने गए थे आरोप है कि इसी दौरान राशन विक्रेता के पति व कुछ अन्य लोगों ने योगी को पुलिस की मौजूदगी में बेरहमी से मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया था। हमलावरों ने योगी का मोबाइल भी छीन लिया था। योगी की तहरीर पर पुलिस ने राशन विक्रेता के पति सहित आठ लोगों के विरुद्ध लूट और मारपीट की रिपोर्ट दर्ज कर ली थी किंतु कई दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस ने नामजद आरोपियों को गिरफ्तार करने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई पुलिस की इसी लापरवाही को लेकर कुपित हुए योगी विजय देव ने 12 सितंबर को बरेली के एसएसपी से शिकायत की और 16 सितंबर को जहर की शीशी लेकर विधानसभा के सामने आत्महत्या करने के लिए लखनऊ पहुंच गए जहां पुलिस ने योगी को पकड़ लिया। 17 सितंबर को जब बिशारतगंज पुलिस योगी को लखनऊ से बरेली लेकर आई तो योगी ने घोषणा कर दी कि यदि 19 सितंबर तक उनकी तीनों मांगे नहीं मानी गई तो वह 20 सितंबर को एसएसपी कार्यालय बरेली में धरना प्रदर्शन के बाद आत्महत्या कर लेंगे। उक्त घोषणा के बाद पुलिस योगी की मांग मुनब्बल में जुट गई। रविवार की रात बेहटा बुजुर्ग गांव के शिव मंदिर पहुंचे सीओ अजय कुमार गौतम ने घंटों योगी को समझाने का प्रयास किया किंतु बात नहीं बनी। सोमवार की सुबह से ही बिशारतगंज के प्रभारी निरीक्षक राजेश कुमार शिव मंदिर पर पहुंच गए और योगी को मनाने के प्रयास शुरू कर दिए। दोपहर बाद मंदिर पहुंचे एसडीएम ननहेराम और सीओ अजय कुमार गौतम ने योगी को काफी भरोसा दिलाया और पुलिस को 8 दिन का समय देने की बात कही। इसके बाद नाथ संप्रदाय के एक अन्य योगी बाबा ओम नाथ की मध्यस्थता से लंबी वार्ता के बाद योगी पुलिस को 4 दिन का समय देने के लिए तैयार हो गए।योगी विजय देव ने बताया कि यदि 23 सितंबर तक पुलिस ने सभी नामजद आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल नहीं भेजा और उनकी सभी मांगे नहीं मानी तो उनके लिए आंदोलन का रास्ता खुला है। वही आज पुलिस ने 7 आरोपियों को एसडीएम के समक्ष पेश कर दिया योगी विजय देव नाथ का कहना है कि इन लोगों पर से लूट की धारा क्यों हटाई गई है इस कार्रवाई से संतुष्ट नहीं बाबा ने एसडीएम से हाथ जोड़कर कहा अब मैं 24 तारीख को जहर खाकर अपनी आत्महत्या कर लूंगा मुझे इंसाफ नहीं मिला

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button